श्री जगदीश रथयात्रा एवं चातुर्मास्यव्रत-निमंत्रण पत्र


श्री जगदीश रथयात्रा एवं चातुर्मास्यव्रत-निमंत्रण पत्र

गोवर्धन मठ पुरीपीठ,

श्री शंकराचार्य मार्ग,पूरी,ओडिशा

सम्माननीय सन्त तथा भक्तवृन्द,

सस्नेह स्मरण तथा सादर अभिनंदन ! निम्नलिखित कार्यक्रमोंमें आप सादर तथा सानन्द आमंत्रित हैं ।

श्री जगदीश्वर रथयात्रा महोत्सव

विदित हो कि इस वर्ष श्री बलभद्र और भगवती शुभद्रासहित महाप्रभु श्रीजगन्नाथजीकी रथयात्रा आषाढ़ शुक्ल द्वितीया,वि.सं.२०७४ रविवार  तदनुसार 25th June-2017 को प्रारंभ होगी । इस महोत्सव में सम्मिलित होकर आप प्रमुदित हों तथा पुण्य के भागी बनें ।

चातुर्मास्यव्रत महोत्सव

युधिष्ठिर संवत २६३१ तदनुसार ई. सन् से ५०७ वर्ष पूर्व वैशाख शुक्ल पंचमी रविवार को भगवाद्पाद श्री शिवस्वरूप आदि शंकराचार्य अवतीर्ण हुए । उन्होंने अपने चिन्मय करकमलों से युधिष्ठिर संवत २६५५ तदनुसार ई. सन् से ४८३ और सन् २०१७ से २५०० वर्ष पूर्व वैशाख शुक्लदशमी को ऋग्वेदी पूर्वाम्नाय श्री गोवर्धन मठ पूरी पीठ के प्रथम शिष्य श्रीपद्मपाद महाभाग को प्रतिष्ठित तथा अभिषिक्त किया एवं मूर्ति भंजकों के शासन काल में अदृष्टिगोचर श्री जगन्नाथादि चतुर्व्यूहको पुरुषोत्तम क्षेत्र श्रीमंदिर पूरी में पुनः प्रतिष्ठित किया । श्री पद्मपादाचार्य महाभागकी प्रशस्त परंपरा में 145 वें श्रीमदज्जागदगुरु  शंकाराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वतीजी महाराज इस वर्ष आषाढ़ शुक्ल 15 गुरुपूर्णिमा वि.सं. २०७५ से भाद्र शुक्ल १५ रविवार,तदनुसार ६ सितंबर २०१७ पर्यन्त श्री गोवर्धन मठ -पूरी पीठ पूरी में चातुर्मास्य व्रत सम्पन्न करेंगे । इस अवसर पर आप अपने सुविधानुसार समुपस्थित होकर महोत्सव की शोभा बढ़ावें ,ऐसी भावना हैं ।

दैनिक कार्यक्रम

-प्रातः 10.00-12.00-छान्दोग्य उपनिषद्, बृहदारण्यक उपनिषद्-शांकरभाष्य-आनंदगिरि विरचित टीका सहित अध्यापन

-सायं 4.30-06.00-श्रीमद्भागवत कथा

-रात्रि 8.00-9.00-ब्रह्मसूत्र – भामतीटीका सहित अध्यापन